20 Google Ranking Factors in 2018 हिंदी

20 Google Ranking Factors in 2018 हिंदी

Google सर्च इंजन पहले से कहीं ज्यादा स्मार्ट हो गया है। यदि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को Google सर्च रिजल्ट में शीर्ष पर ले जाना चाहते हैं, तो आपको Latest SEO और Google ranking factors का पालन करना होगा।

हालांकि, Google जब किसी पेज को रैंक करता है, तो वह बहुत सारे Ranking factors का उपयोग करता है।

लेकिन वे क्या है?

यहां, हमने Google’s Ranking Factors की एक पूरी लिस्ट बनाई है जिन्हें पढकर आप आसानी से अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को एक नयी उचाई पर ले जा सकते है।

तो, चलो शुरू करें…

Google Ranking Factors

Google Ranking Factors Full Details हिंदी में

HTTPS

Google ने अगस्त 2014 में घोषणा की कि HTTPS (SSL Certificate) को एक Ranking factor माना जाएगा।

अगस्त 2017 में, Google क्रोम ने उन साइटों को Insecure के रूप में चिह्नित करना शुरू किया, जो HTTPS का उपयोग नहीं करते थे।

तो यह संकेत करता है कि Google अब HTTPS को एक Ranking factor के रूप में कर रहा है उर जो साइट्स HTTPS का उपयोग करेगी वह सर्च इंजन में अच्छा रैंक करेगी।

Mobile-Friendliness

आज का युग स्मार्टफोन का है, और आधे से अधिक सर्च स्मार्टफोन से होती है।

इसलिए, Google ने Mobile-friendly search results में सुधार करने के लिए पहला कदम उठाया। और अंत में Mobile-friendliness को एक रैंकिंग फैक्टर के रूप में पेशकश की।

यह निर्धारित करने के लिए कि आपकी साइट गूगल के नजर में mobile-friendly है या नहीं, Google ने Mobile-friendly testing tool भी डेवलप्ड किया।

Domain Age

Google’s Matt Cutts ने इस वीडियो में पुष्टि की है।

Matt Cutts कहते हैं

The difference between a domain that’s six months old versus one year old is really not that big at all.

हिंदी

एक वर्ष और छः माह पुराना डोमेन के बीच का अंतर वास्तव में इतना बड़ा नहीं है।

Domain age केवल नई वेबसाइटों के लिए देखी जाती है क्योंकि वे स्पैम साइटें भी हो सकती हैं या स्पैम फ़ैलाने के लिए ही डेवलप्ड की जाती है।

Domain registration length

एक Google patent बताता है कि

Valuable (legitimate) domains are often paid for several years in advance, while doorway (illegitimate) domains rarely are used for more than a year. Therefore, the date when a domain expires in the future can be used as a factor in predicting the legitimacy of a domain

हिंदी

Valuable (legitimate) domains अक्सर कई सालों (५ या ६ साल) के लिए Register/paid कर दिए जाते हैं, जबकि doorway (illegitimate) domains का उपयोग शायद ही एक वर्ष या उससे से अधिक समय तक किया जाता है। इस तरह आप समझ सकते है गूगल किसी साईट को रैंक करने के लिए Domain registration length किस तरह उपयोग करता है

Heading Tags

H1 tag खोज इंजन को यह पता लगाने में मदद करता है कि आपका पेज या पोस्ट किस बारे में है।

हालंकि, गूगलर John Mueller H2, H3 Tags के बारे में बताते है

These heading tags in HTML help us to understand the structure of the page.

हिंदी

HTML में ये heading tags हमें पेज की structure को समझने में मदद करते हैं।

खैर H1 tags का उपयोग आपकी रैंकिंग boost करने में मदद करता है है। लेकिन यह ध्यान में रखें आपनी पूरी कंटेंट को H1 टैग से ना भरें।

Loading speed

Google अपने यूजर को बेहतर User Experience देने के लिए वेबसाइट लोडिंग स्पीड को एक Ranking factor के रूप में उपयोग करता है। यदि आपकी साइट की लोडिंग गति बहुत अच्छी है, तो Google आपकी कंटेंट को टॉप रैंक देगा।

इसके अलावा, यूजर आपकी साइट पर जाना भी पसंद करेंगे।

Number of Comments

हम कमेंट को Google ranking factor की चाभी मान सकते हैं। चूंकि बहुत सी कमेंट आपकी कंटेंट की quality और user-interaction को दर्शाती हैं।

Gary Illyes ने ट्विटर पर कमेंट की है कि रैंकिंग को बूस्ट में बहुत सारे कमेंट आपकी मदद कर सकते है।

Breadcrumb

Breadcrumb उपयोगकर्ताओं को यह जानने में सहायता करता है कि वे आपकी साइट पर कहां हैं और साथ ही सर्च इंजन को आपकी साइट की Structure Data को समझने में सहायता करते हैं। एक आर्टिकल में हमने आपको बताया था कि, वर्डप्रेस साईट में Breadcrumbs कैसे जोड़े

इसके अलावा, Google ने कहा है कि,

Google Search uses breadcrumb markup in the body of a web page to categorize the information from the page in search results.

हिंदी

Google Search सर्च रिजल्ट में पेज से जानकारी को categorize करने के लिए Breadcrumb Markup का उपयोग करता है।

SEO Friendly URLs

सर्च इंजन आपकी कंटेंट की Title, Meta Description और URL का उपयोग करके निर्धारित करता है कि कंटेंट किस बारे में है। अपने URLs को short और meaningful बनाएं। साथ ही साथ इसमें टार्गेट कीवर्ड जोड़ना ना भूलें।

हमेशा SEO Friendly URLs का प्रयोग करें

http://inhindihelp.com/page-seo-techniques/

हमेशा ऐसे यूआरएल से बचें

http://justbrightme.com/p=123

http://justbrightme.com/5/10/17/category=SEO/of-page-seo-best-web-optimization

Backlinks

Backlinks एक बहुत पुराना Ranking Factor है जिसे Google किसी कंटेंट को रैंक करने के लिए उपयोग करता है। बैकलिंक्स आपकी Google सर्च रैंकिंग में एक बड़ा अंतर ला सकते है। यह आपकी रैंकिंग को एक नई ऊंचाई तक ले जा सकते है या रात भर में नीचे ला सकते है।

Domain authority, Google website ranking, और website traffic को बढ़ाने के लिए Backlinks बहुत जरूरी है।

यदि आप अपनी साइट के लिए Bad बैकलिंक्स बनाते हैं, तो यह आपकी वेबसाइट रैंकिंग को बुरी तरह चोट पहुंचा सकता है। इसलिए हमेशा अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए High-quality Backlinks बनाये।

Quality content

Google Ranking Factors में यह सबसे Important factor (Key) है। आप चाहे कितनी भी अच्छी SEO या क्यूँ न करें आपकी कंटेंट गूगल में रैंक प्राप्त नहीं कर पायेगी।

आसान शब्दों में कहें, तो यदि आप अपनी साईट पर Informative ब्लॉग पोस्ट नहीं लिखते हैं, तो आप अपने ब्लॉग पर कचरा डालने का कार्य कर रहे हैं और कुछ भी नहीं।

हमेशा Unique और Quality कंटेंट लिखने का प्रयास करें। इसके अलावा, आपकी सामग्री दिलचस्प और Evergreen होनी चाहिए।

Content Length

छोटी कंटेंट की तुलना में Long Content सर्च इंजन में बेहतर रैंक प्राप्त करते है। बेहतर से समझने के लिए आप Search Engine Land पर इस आर्टिकल को पढ़ सकते हैं – The SEO And User Science Behind Long-Form Content

यदि आप अपनी ब्लॉग पर छोटी पोस्ट लिखते हैं, तो आपकी पोस्ट की लंबाई कम से कम 1000 Words की होनी चाहि, बिना बकवास के।

Keyword Research

अच्छी कंटेंट के साथ साथ आपको कीवर्ड रिसर्च भी आना चाहिए। कीवर्ड रिसर्च के बिना आप Google या किसी भी सर्च इंजन में टॉप रैंक नहीं प्राप्त कर सकते हैं। यह SEO का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

कीवर्ड रिसर्च कोई कठिन काम नहीं है। ऐसे कई बेहतरीन टूल और वेबसाइट हैं जिनका उपयोग आप बेस्ट कीवर्ड खोजने के लिए कर सकते हैं। हमेशा अपनी कंटेंट के लिए Low Competition, High Searches और Long Tail Keyword चुनें।

Meta Description

मेटा डिस्क्रिप्शन टेक्निकली Google ranking factor नहीं है। लेकिन यह आपकी कंटेंट पर Click Through Rate (CTR) बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

हालांकि, Google आम तौर पर Meta Descriptions के लिए 300 characters लिखने की अनुमति देता है।

Starts Title with Keyword

SEO के अनुसार, कीवर्ड के साथ शुरू होने वाला एक टाइटल सर्च इंजन में बेहतर रैंक प्राप्त करता है। साथ ही, टाइटल की लम्बाई 50-60 Characters की होनी चाहिए।

Use ALT Tag

Google में Images पढ़ने की क्षमता नहीं है, इमेज किस बारे में है यह जानने के लिए Alt tag को क्रॉल करता है। इसलिए आपको अपनी छवि में Meanigful नाम का उपयोग करना चाहिए।

Alt text छवियों के लिए Anchor text के रूप में काम करता है।

Grammar और Spelling

Proper grammar और Spelling आपके आर्टिकल की Quality में सुधार करती है? Matt Cutts का इसपर एक विडियो है जो बता रहे है, यह महत्वपूर्ण है या नहीं।

Use Media

यदि आप अपनी कंटेंट में मीडिया (छवियों, वीडियो, और इन्फोग्राफिक) का उपयोग करते हैं, तो यह आपकी कंटेंट को और भी अधिक उपयोगी और आकर्षक बनाता है।

सीधे शब्दों में कहें, तो एक मीडिया 1000 शब्दों की व्याख्या कर सकता है।

Regular Post

यदि आप अपनी ब्लॉग पर नियमित रूप से पोस्ट पब्लिश करते है, तो आपकी रैंकिंग और रीडर दोनों में बढ़ोतरी होगी। लेकिन आपकी कंटेंट जानकारीपूर्ण और उपयोगी होनी चाहिए।

Internal Links

Internal liking सर्च इंजन और यूजर दोनों को आपकी कंटेंट के बारे में Relevant जानकारी प्रदान करता है।

यदि आप इंटरनल लिंकिंग का उपयोग करते हैं, तो यह आपकी पोस्ट को और भी अधिक जानकारीपूर्ण बनाता है। इसके अलावा, विजिटर आपकी साइट पर अधिक समय बिताते हैं जो बाउंस दर को कम कर करता है। साथ ही Google आपके कंटेंट को क्वालिटी कंटेंट मानता है।

One thought on “20 Google Ranking Factors in 2018 हिंदी

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.